UA-176735881-1

बिमार व्यवस्था…6 घंटे लग गए घायल महिला को उपचार में…

सरल संस्कार हस्ताक्षेप के बाद PGI में चल रहा उपचार…हुई पहचान

ASOKA TIME’S/पांवटा साहिब

पांवटा साहिब सड़क हादसे में घायल एक महिला को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर ले जाने में तकरीबन 6 घंटे से अधिक का समय लग गया। इस मामले की। मुख्यमंत्री को शिकायत दर्ज…

हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर में आपातकालीन सेवाएं किस कदर जानलेवा साबित हो रही है एक उदाहरण आपको बताते हैं। दरअसल सोमवार रैनबैक्सी चौक पर दो बाइक आपस में टकराई और इनकी चपेट में किनारे से गुजर रही एक गरीब महिला आ गई महिला सहित 5 घायलों को सिविल अस्पताल लाया गया प्राथमिक उपचार के बाद जब इस महिला को डॉक्टर ने हायर सेंटर रेफर किया तो इसके साथ कोई नहीं था।

बिमार व्यवस्था की हालत देखिए अस्पताल में ही 3 से 4 घंटे महिला स्ट्रेचर पर पड़ी रही सिर्फ इसलिए क्योंकि इसके साथ हायर सेंटर जाने वाला कोई नहीं था वहीं पुलिस इस महिला के जान पहचान के लोगों को तलाश करती रही ।

वही जब इस महिला की जानकारी सरल संस्कार वेलफेयर सोसाइटी तक पहुंची तो उनके हस्तक्षेप के बाद इस महिला को बमुश्किल 108 के माध्यम से नाहन के लिए भेजा गया वहां से भी इस महिला को पीजीआई चंडीगढ़ के लिए भेज दिया गया इस दौरान महिला के साथ महिला कांस्टेबल और सरल संस्कार वेलफेयर सोसाइटी के हेमंत शर्मा और विशाल कटारिया मौजूद रहे दुर्घटना से लगभग 6 घंटे बाद महिला को हायर सेंटर पहुंचाया जा सका.

आप समझ सकते हैं कि जब सड़क दुर्घटना होती है तो गंभीर स्थितियों में एक-एक पल इंसान की जिंदगी और मौत के बीच गुजरता है ऐसे में इस महिला को हायर सेंटर सिर्फ इसलिए नहीं ले जाया जा सका क्योंकि इसके साथ कोई नहीं था जबकि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन है कि सड़क हादसे में घायल किसी भी व्यक्ति के प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर भेजने में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी बल्कि अस्पताल प्रशासन इसकी जिम्मेदारी को निभाएगा।

दर्दनाक…पांवटा सड़क दुर्घटना में महिला सहित पांच गंभीर घायल…https://bit.ly/39qJjs3

इस बारे में डॉक्टर कमाल पाशा ने बताया कि प्राथमिक उपचार के बाद तुरंत हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया था समस्या यह थी कि इस महिला के साथ हायर सेंटर जाने के लिए कोई भी नहीं था हम जो कर सकते थे हमने किया।

वही इस बारे में सरल संस्कार एवं वेलफेयर सोसाइटी के हेमंत शर्मा ने बताया कि फिलहाल महिला को पीजीआई चंडीगढ़ दाखिल किया गया है उन्होंने बताया कि एक महिला को तुरंत हायर सेंटर उपचार की आवश्यकता थी वह अस्पताल में 4 घंटे तक स्ट्रेचर पर पड़ी रही उसे हायर सेंटर ले जाने वाला कोई नहीं था ना तो अस्पताल प्रशासन ने उसकी कोई मदद की और ना ही पुलिस तत्परता से गंभीर नजर आई हालांकि जब हमारे लोगों ने इस महिला को लेकर हस्तक्षेप किया तो लगभग 1 घंटा 108 में लग गए। हमने मुख्यमंत्री को इस मामले की शिकायत दर्ज कराई गई है। वही बताया जा रहा है कि सड़क हादसे का शिकार महिला के रिश्ते दारों कु

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *